स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट
Trending

Swati Maliwal: स्वाति मालीवाल को राज्यसभा से हटाने को लेकर उपजे विवाद में हुई मारपीट ?

नई दिल्ली, 14 मई 2024. कल यानि 13 मई को जब देश में लोकसभा के चौथे चरण की वोटिंग शुरू ही हुई थी कि देश की राजधानी दिल्ली से हैरान करने वाली खबर सामने आयी. दरअसल पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल के स्टाफ के खिलाफ सनसनीखेज आरोप लगाए.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल सोमवार को सिविल लाइंस थाने भी गईं और आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव विभव ने उनके साथ मारपीट की है. पुलिस अधिकारियों के अनुसार कथित मौखिक झगड़े के बाद मालीवाल ने पीसीआर कॉल भी की थी. अधिकारी ने बताया कि दो कॉल सुबह 10 बजे की गईं थी. इसके बाद सिविल लाइंस थाने की एक टीम मुख्यमंत्री आवास पहुंची.

हालाँकि हैरानी की बात यह भी है एक राज्यसभा सांसद के द्वारा इतना बड़ा और गंभीर आरोप एक मुख्यमंत्री पर लगाया गया और अभी तक न ही मुख्यमंत्री आवास या आम आदमी पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गयी. पार्टी के बड़े नेता भी इस मामले से कन्नी काटते हुए नजर आये हैं.

घटना के बाद स्टार प्रचारकों की सूची से स्वाति क्यों गायब ?

कल की इस घटना के बाद शाम को आम आदमी पार्टी के द्वारा लोकसभा चुनावों हेतु उनके स्टार प्रचारकों की लिस्ट भी जारी कर दी गयी. लिस्ट जारी होने के बाद सुबह हुई घटना की चर्चा और जोर पकड़ने लगी. दरअसल इस सूची में दिल्ली से राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल का नाम नहीं था जबकि इससे पहले जारी सूची में उनका नाम दिया गया था. जारी सूची में अरविन्द केजरीवाल, हाल ही में राजनैतिक रूप से सक्रिय हुई केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल, राघव चड्ढा सहित सभी प्रमुख नेताओं के नाम शामिल थे, लेकिन स्वाति का नाम नदारद कर दिया गया.

अरविन्द केजरीवाल राज्यसभा छोड़ने का दबाव बना रहे ?

यदि सूत्रों की खबरों पर गौर किया जाये तो एक बड़ी बात सामने आ रही है. दरअसल अरविन्द केजरीवाल हाल ही में राज्यसभा सांसद बनी स्वाति मालीवाल से इस्तीफा चाह रहे हैं. अरविन्द केजरीवाल चाहते हैं कि उनके केस की पैरवी कर रहे किसी खास वरिष्ठ वकील को वो अब राज्यसभा भेजना चाह रहे हैं. इसी विवाद को लेकर कल जब स्वाति मालीवाल अरविन्द केजरीवाल के घर पहुँची तो उन्हें अरविन्द केजरीवाल से मिलने नहीं दिया गया. इसी बीच बात इतनी बढ़ गयी कि हाथापाई की नौबत आयी और अंततः दिल्ली पुलिस को पीसीआर के माध्यम से संपर्क कर स्वाति को पुलिस को मदद के लिए बुलाना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *