कोरोना के नये वेरिएंट ने दी भारत में दस्तक
corona Updates

Covid-19 New Variant: कोरोना के नये वेरिएंट ने दी भारत में दस्तक, सिंगापुर में दर्ज हुए एक हफ्ते में रिकॉर्ड मरीज

नई दिल्ली, 22 मई 2024. कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को कुछ इस कदर चपेट में लिया है कि आज 4 साल होने के बाद भी इसका प्रकोप पूरी तरह से समाप्त नहीं हो पाया है. कोरोनो के विभिन्न वेरिएंट से आम जनता और सरकार की मुश्किलें ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही हैं. सिंगापुर में हाहाकार मचाने के बाद अब भारत में भी चिंता बढ़ानी शुरू कर दी है.

भारत में एक बार फिर कोविड- 19 के दस्तक की आहट कुछ राज्यों में सुनाई देने लगी है. दरअसल कोरोना के उप स्वरूप केपी. 2 से 290 और केपी.1 से 34 लोगों के संक्रमित होने की आधिकारिक पुष्टि हुई है. कोविड-19 के ये दोनों उप स्वरूप सबसे पहले सिंगापुर में पाये गए और अब उसके बाद भारत में भी इसके मरीज मिलने शुरू हो गए हैं.

हालांकि, राहत की बात यह है कि  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि ये दोनों जेएन1 स्वरूप के उप स्वरूप हैं और इनका प्रभाव मरीज को गंभीररूप से बीमार नहीं कर रहा है. फिर भी एहतियातन डॉक्टर द्वारा इससे संक्रमित व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी जा रही है. हालाँकि डॉक्टरों ने या भी कहा कि चिंतित होने या घबराने की जरुरत नहीं है. विषाणु के स्वरूप में तेजी से बदलाव होते रहेंगे और यह सार्स-सीओवी2 जैसे विषाणुओं का नैसर्गिक गुण है.’

सूत्रों ने बताया कि इंडियन सार्स-सीओव-2 कंसोर्टियम ऑन जीनोमिक्स (आईएनएससीओजी) मामले के प्रति संवेदनशील है और नया स्वरूप सामने आने पर उसका मुकाबला कर सकता है. उन्होंने बताया कि विषाणु के कारण बीमारी की गंभीरता में किसी भी बदलाव का पता लगाने के लिए अस्पतालों से भी व्यवस्थित तरीके से नमूने लिए जाते हैं.

आईएनएससीओजी द्वारा संकलित आंकड़ों के मुताबिक केपी.1 के कुल 34 मामले सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सामने आए जिनमें से 23 मामले अकेले पश्चिम बंगाल में दर्ज किए गए. वहीँ आंकड़ों के मुताबिक इस उप स्वरूप का गोवा में एक, गुजरात में दो, हरियाणा में एक, महाराष्ट्र में चार, राजस्थान में दो और उत्तराखंड में एक मामला सामने आया. आईएनएससीओजी के मुताबिक केपी.2 उप स्वरूप के 290 मामले आए हैं; जिनमें से सबसे अधिक 148 मामले अकेले महाराष्ट्र के हैं.

इसके अलावा दिल्ली में एक, गोवा में 12, गुजरात में 23, हरियाणा में तीन, कर्नाटक में चार, मध्य प्रदेश में एक, ओडिशा में 17, राजस्थान में 21, उत्तर प्रदेश में आठ, उत्तराखंड में 16 और पश्चिम बंगाल में 36 लोग इस उप स्वरूप से संक्रमित हुए.

सिंगापुर में हाल के दिनों में कोविड-19 की लहर देखने को मिली है और पांच से 11 मई के बीच केपी.1 और केपी.2 उप स्वरूप से संक्रमण के 25,900 मामले सामने आए हैं. यह सिंगापुर में कुल संक्रमण के मामले का दो तिहाई है.

वहीँ भारत में एकमात्र चिंता का विषय यही है कि चुनावों की सरगर्मी काफी तेज है और लोग चुनावी रैलियों में लाखों की संख्या में इकठ्ठा हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *