COVID Care Trending

कोविड-19 से उबरने वाले लोगों के शरीर में महसूस होती कमजोरी दूर करने के उपाय जानिये

कोविड-19 से उबरने वाले लोगों के शरीर में महसूस होती कमजोरी दूर करने के उपाय जानिये

इंडियन  स्पाइनल इंजरी सेंटर की सीनियर डाइटिशियन हिमांशी शर्मा
• ताकत कैसे कम हो जाती है? इससे कैसे बचें?
• घर के बने भोजन और अन्य मनपसंद चीजों का सेवन करके ताकत बढ़ाएं?

शारीरिक रूप से कामकाज करते रहें और खुद को पॉजिटिव रखें। व्यक्ति को खुद को स्वस्थ और सकारात्मक रखने के लिए कोई भी शारीरिक कसरत करनी चाहिए। इनडोर एक्सरसाइज करें और अगर आपको कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो तो उसे हल करने पर
विचार करें।

हाइड्रेटेड रहें: चीनी (शुगर) मीठे और डिब्बाबंद पेय पदार्थों के बजाय सादा पानी पिएं। यह शुगर और अतिरिक्त
कैलोरी के सेवन को कम करने का एक सरल तरीका है।

नीचे दिए गए किसी भी तरीके से आप अपने दिन की शुरूआत कर सकते हैं।
1- एक गिलास पानी में एक चुटकी हल्दी और कैरम के बीज और थोड़ा सा देसी घी डालकर उबालें।
गुनगुना होने पर इसका सेवन करें।


2- कच्चे आंवले को सुबह खाली पेट या शाम को खाएं। इसके बजाय आप एक गिलास गुनगुने पानी में
थोड़ा शहद मिलाकर लगभग 10-15 मिलीलीटर आंवले के रस का मिश्रण तैयार करें और उसे पिएं।
आप ककड़ी चुकंदर और नींबू और पुदीने की पत्तियों का रस को भी साथ में मिलाकर पी सकते हैं। एक
गिलास गुनगुने पानी में आधा नींबू और एक चम्मच शहद मिला कर भी आप पी सकते हैं।


3- सुरक्षित तरीके से खाद्य पदार्थों को आदान-प्रदान करने की आदत का पालन करें।
अपने हाथों को साफ रखें और रसोई तथा बर्तनों को साफ और स्वच्छ रखें। सभी फलों और सब्जियों को
50 पीपीएम क्लोरीनयुक्त पानी में धोएं। कच्चे और पके हुए भोजन को अलग करें और भोजन को अच्छी
तरह से पकाएं।

4- फलियां और दलहन : हम सभी जानते हैं कि फलियां प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत होती हैं। पशु आधारित प्रोटीन के बजाय पौधे का प्रोटीन लेना सबसे सुरक्षित होता है, आप किडनी बीन्स, छोले, मूंग, लाल मसूर आदि से प्रोटीन प्राप्त कर सकते हैं। हम इन्हें सूप सलाद और सब्जी स्टू बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं या इसमें
नींबू, काली मिर्च, जीरा पाउडर मिलाने के बाद भिगो कर रख सकते हैं। अन्य पारंपरिक जड़ी-बूटियां
इसमें मिलाने से न केवल इसका स्वाद बढ़ता हैं, बल्कि यह स्वस्थ और पौष्टिक भी बनता है।


5- साबुत अनाज :पोषक तत्वों को प्राप्त करने और स्वस्थ रहने के लिए साबुत अनाज एक बेहतर विकल्प है। हम क्विनोआ, बाजरा, बाजरा, रागी, ज्वार, ब्राउन चावल को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। ये आयरन,मैग्नीशियम, विटामिन और फाइबर का अच्छा स्रोत होते हैं।


6- फल – डाइट में 3 से 4 सर्विंग फलों को शामिल करें। मौसमी, संतरा, अंगूर, अनानास, कीवी, स्ट्रॉबेरी जैसे खट्टे
फलों को प्राथमिकता दें ताकि ये बीमारी को रोक सके और इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बना सके।

7- सब्जियां : अपनी डाइट में सूप, सलाद, उबले हुए पुलाव के साथ ब्रोकोली, गाजर, चुकंदर, बेल मिर्च, पालक,मशरूम, और बैंगन शामिल करें, और पारंपरिक जड़ी बूटियों को भी इसमें मिलाएं।नट और बीज स्नैक्स के रूप में बादाम, अखरोट, चिया सीड्स, सन बीज और सूरजमुखी के बीज का सेवनआप कर सकते हैं। मेथी के बीज को तड़के के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। ये सभी आसानी सेबाजार में उपलब्ध हैं और स्मूदी और सलाद के रूप में भी इसका सेवन किया जा सकता हैं। दही और टोस्ट का भी सेवन आप कर सकते हैं या किसी बीज (जैसे चना) को एक गिलास पानी में रात भर भिगो कर खा सकते हैं।


8- चाय : चाय में हम अपने पारंपरिक मसालों और जड़ी-बूटियों जैसे कि दालचीनी, काली मिर्च, तुलसी, अदरक
को भी मिला सकते हैं। ये इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं और खाना कैसे पकाया जाए इसे भी
ध्यान में जरूर रखना चाहिए।


9- दूध : एक गिलास हल्दी वाला दूध न केवल स्वाद और फ्लेवर को बढ़ा सकता है, बल्कि व्यक्ति को एक्टिवबनाए रखने में भी मदद कर सकता है। थोड़ा च्यवनप्राश के साथ एक गिलास हल्दी वाला दूध एक घंटे सोने से पहले पीने से इम्युनिटी को बढ़ाने का सबसे स्वस्थ तरीका है। हर दिन 6 से 8 मुनक्का खाएं। खाना पकाने में प्याज, अदरक, लहसुन का उपयोग करें। हर किसी को गार्गल (गरारा) और स्टीमिंग (भाप लेने) की आदत डालनी चाहिए। गरारे करने के लिए पानी में एक चुटकी हल्दी और नमक मिलाएं और स्टीम के लिए कैरम सीड्स एक चुटकी मिलाएं। अच्छी तरह से पौष्टिक डाइट वाला घर का बना खाना ही खाएं। भोजन में आंवला, गिलोय, एलोवेरा,
काली मिर्च और लौंग शामिल होंनी चाहिए और फास्ट फूड खाने से बचें। इस समय उपवास, परहेज़,
बहुत ज्यादा एक्सरसाइज, धूम्रपान या शराब न पिएं।

सीनियर डाइटिशियन हिमांशी शर्मा

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *