corona Updates COVID Care Trending

अगर ऐसे नही पहनेंगे मास्क तो जीवनरक्षक नहीं बल्कि जीवनभक्षक बन जायेगा

अगर ऐसे नही पहनेंगे मास्क तो जीवनरक्षक नहीं बल्कि जीवनभक्षक बन जायेगा

सरकारी हेल्पलाइन,जिस प्रकार मास्क पहनने के कई तरीके लोगों ने इजाद किये हैं ठीक वैसे ही लोगों ने कई कारणों से मास्क पहनने का कारण ढूंढ निकाला है, कुछ लोग वाकई में कोरोना से जैसी गंभीर महामारी से बचने के लिए मास्क का उपयोग करते हैं तो कुछ लोग बस इसलिये पहनते हैं कि सामने वाला व्यक्ति टोंक न दे और कुछ तो बस ऐसे ही हैं जिन्हें चालान या कोई क़ानूनी कार्यवाही में न फसना पड़े इसलिए लटका लेते हैं और पुलिस या अन्य कोई सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को देख कर पहन लेते हैं |

लेकिन सवाल यह नही है पहनते हैं कि नही, सवाल ये है कि अगर पहन रहे हैं तो गलत क्यों पहनना ? 

लोगों में एक गलत धारणा यह भर दी गयी है मास्क का उपयोग केवल कोरोना से बचाव के लिए हैं जो कि गलत है, दरअसल मास्क पहनने से आज के दौर की सबसे बड़ी महामारी से तो बचाने में सहयोग करता ही है बल्कि अन्य बीमारियों से भी बचाव करता है, आज की सबसे बड़ी समस्या सिर्फ कोरोना ही नही है बल्कि मेट्रो शहरों में प्रदुषण भी बेहद घातक समस्या बनी हुई है जिसका इलाज अभी तक सरकारें निकालने में सफल नही हो सकी है | इसलिए मास्क बेहद जरुरी है और उसे सही पहनन उससे भी ज्यादा जरुरी है |

गलत तरीके से मास्क पहनने से आप बीमार भी हो सकते  हैं

कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना बेहद जरूरी है। यह बोलने, खांसने और छींकने के दौरान बाहर निकलने वाले ड्रॉपलेट्स को रोकता है। मास्क का प्रयोग ट्रांसमिशन रोकने के लिए किया जाता है। इसके अलावा हमें वायरस से बचने के लिए कम से कम छह फीट की दूरी रखनी चाहिए। बार-बार हाथ धोने चाहिए और मास्क, चेहरे को हाथ से छूने से बचना चाहिए।
मास्क केवल कोरोना से ही नहीं बल्कि सांस के जरिए शरीर के भीतर प्रवेश करने वाले कई हानिकारक रोगाणुओं का रोकता है। कोरोना काल में अब मास्क का उपयोग बढ़ गया है। इसलिए इसके पहनने के तौर तरीकों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। सीएमओ डॉ. विजय कुमार यादव के अनुसार गलत तरीके से मास्क पहनने से फायदे कम, नुकसान ज्यादा हैं। इसलिए मास्क पहनने को लेकर लोगों को और ज्यादा गंभीर होने की जरूरत है। कुछ लोग इस तरह मास्क लगा रहे हैं जैसे उन्हें सिर्फ पुलिस के चालान से बचना है, बीमारी से नहीं। गलत तरीके से मास्क पहनने से फायदा कम, नुकसान ज्यादा हो सकता है। अक्सर देखा जा रहा है कि लोग मास्क को मुंह और नाक पर न लगाकर गले में लटका लेते हैं। यह स्थिति खतरे को और बढ़ा सकती है।

बहुउद्देशीय मास्क के प्रयोग से बचें

मल्टीपरपज मास्क (चुंदरी और गमछा आदि) से फायदे की जगह नुकसान का खतरा ज्यादा है। मल्टीपरपज होना ही खतरे का कारण है। पसीना आने पर मुंह पोंछ लेना, कभी हाथ पोंछ लेना संक्रमण के खतरे को कई गुना बढ़ा देता है। यदि चुंदरी या गमछे का ही मास्क के रूप में प्रयोग करना चाहते हैं तो बेहतर है कि उसे काटकर घर में मास्क सिल लें। एक गमछे या चुंदरी में कई मास्क बन जाएंगे। ध्यान रहे कि घर में बने मास्क को अच्छी तरह से डिटर्जेंट में आधे घंटे तक भिगोकर धोने और फिर धूप में सुखाने के बाद ही इसका इस्तेमाल करें।

  •  
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *