Trending

Knitter पर लगा बिना नोटिस नौकरी से निकालने व सैलरी रोकने का आरोप

बंगलोर के स्टार्टअप Knitter के कर्मचारियों का आरोप है की कंपनी 2 महीने से लोगों को सैलरी नहीं दे रही है । 6 महीने से एरियर तक बकाया हैं। बावजूद इसके Knitter के मालिक नई कंपनी खोलने की तैयारी कर रहे। इस कंपनी के कर्मचारियों से कहा है कि हम कंपनी बन्द करेंगे मगर अब तक कोई लिखित में जानकारी नहीं मिली। न सैलरी की, न पीएफ की, न एरियर की और न अन्य भत्ते की।

निटर के कर्मचारियों ने ये बताया

अप्रैल में कहा गया कि इस बार सैलरी 8 दिन देरी से आएगी। मतलब महीने की 8 तारीख को मिलने वाली सैलरी 8 दिन और देरी से आने का मतलब है कि महीने के बीच में आएगी। जैसे-तैसे कर्मचारी काम चलाएगा। महीने की 15 तारीख को सैलरी आने के बाद फाउंडर्स अगले ही दिन पूरी टीम की मीटिंग लेंगे। सब पर गुस्सा निकालेंगे कि यह नहीं हुआ। वह नहीं हुआ। कुल मिलाकर किसी ने कुछ नहीं किया। बावजूद इसके सैलरी की मांग। मानो सैलरी मांगकर ही गुनाह कर दिया हो। खैर, कर्मचारी फिर से नई ताकत और ऊर्जा के साथ जुट जाते हैं प्लानिंग और एक्जीक्यूशन की दिशा में।

महीना खत्म हो चुका है। अगले महीने की 8 तारीख आ चुकी है। कर्मचारियों को सैलरी का इंतजार है। फाउंडर्स गायब हैं। कहीं कोई खबर नहीं है। 15 तारीख को मतलब 7 दिन बात मैसेज आता है कि अभी सैलरी में दिक्कत आ रही है। थोड़ा इंतजार करें। इसके बाद कर्मचारी बेचैन हो रहे हैं। आलम यह है कि फाउंडर्स की ओर से कोई कम्युनिकेशन नहीं है। अब ऐसी हालत में क्या किया जाए। थक हारकर टीम मैसेज करती है। जैसे-तैसे फाउंडर्स सामने आते हैं। बड़े अहंकार से कहते हैं कि हम कंपनी बंद कर रहे हैं, क्योंकि आप लोगों ने ठीक से काम नहीं किया है। निवेशक अब पैसा देने के लिए राजी नहीं है।

कर्मचारी हैरान हैं। खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। हर आदमी सोच रहा है कि कमी कहां रह गई? किसकी गलती? किस बात की कमी? हमारे समर्पण की या फाउंडर्स के ईमान के? कुछ ही दिनों में इस बात का खुलासा भी हो गया। फाउंडर्स का सफेद झूठ पकड़ा गया। कंपनी बंद करने की बात करने वालों ने सोशल मीडिया पर उसी कंपनी की नई जॉब्स निकालना शुरू कर दी। आलम यह है कि पूछने पर यह तक बोल दिया कि हमें नहीं पता कि कौन यह सब कर रहा? कर्मचारी को दो महीने से सैलरी नहीं मिली। 5 महीने से पीएफ तक बकाया है। ज्यादातर लोगों का एरियर तक बकाया है। ऐसी हालत में कर्मचारी कहां जाए?

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *